Wednesday, 20 February 2019, 1:47 AM

संस्कृति

बोले सो निहाल जय महाकाल

Updated on 29 July, 2013, 15:00
अमिताभ पाण्डेय प्रकृति के श्रंगार का पर्व सावन एक बार फिर हरियाली और खुशहाली लेकर आ गया है। भारतीय संस्कृति की धार्मिक मान्यता के अनुसार सावन मास में किये जाने वाले देवदर्शन,भजन,पूजन,जप,तप,व्रत आदि का विशेष महत्व है। वैज्ञानिक दृष्टिकोण से देखें तो सावन माह जल,जंगल,जमीन,जीव,जन्तु के लिए भी लाभदायक होता है।... आगे पढ़े

कैलाश मानसरोवर को वैकल्पिक रास्ता देगा चीन!

Updated on 25 July, 2013, 10:55
नई दिल्ली कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए चीन भारत को एक और वैकल्पिक मार्ग उपलब्ध करा सकता है। सीमा पर विश्वास बहाली के लिए हुई वार्ता के दूसरे दिन चीन ने भारत की इस मांग पर सकारात्मक रुख अपनाया है। चीनी सीमा और समुद्री मामलों के महानिदेशक ओयांग यूजिंग ने कहा कि... आगे पढ़े

सावन में काशी विश्वनाथ की विविध रूपों में होगी श्रृंगार झांकियां

Updated on 24 July, 2013, 8:55
वाराणसी काशी काशी विश्वनाथ मंदिर में सावन माह के दौरान बाबा भोलेनाथ की पांच विविध रूपों में श्रृंगार झांकियां होंगी. इसके साथ ही विशेष माह में आरती और रुद्राभिषेक की समय सारिणी जारी करने के अलावा पूजा-आरती की नयी दरें भी घोषित कर दी हैं. काशी विश्वनाथ मंदिर ट्रस्ट के मुख्य कार्यपालक... आगे पढ़े

सावन के पहले दिन शिव मंदिरों में उमड़े श्रद्धालु

Updated on 23 July, 2013, 13:03
नई दिल्ली आज से सावन का महीना शुरू हो गया है. इस दौरान हर-हर बम-बम और ओम नमः शिवाय के मंत्रों से शिवालय गूंजेगा. इस बार इस महीने में चार सोमवार पड़ा है. पहला सोमवार 29 जुलाई को, दूसरा 5 अगस्त को, तीसरा 12 अगस्त को और चौथा 19 अगस्त को... आगे पढ़े

केदारनाथ धाम में शिवलिंग का हुआ जलाभिषेक

Updated on 23 July, 2013, 12:58
केदारनाथ 16 जून को आये जलसैलाब ने केदारनाथ धाम को जैसे थमने पर मजबूर कर दिया था. हजारों लोग लापता और न जाने कितनों की मौत हुई. मगर भगवान के धाम में एक बार फिर से रौनक लौटने वाली है. पूरा केदारनाथ धाम 17 जून तक रेत का अम्बार बन चुका था.... आगे पढ़े

14वीं सदी से 18वीं सदी के बीच केदारनाथ मंदिर दबा था बर्फ के पहाड़ों में, फिर भी रहा सुरक्षित

Updated on 17 July, 2013, 12:47
नई दिल्ली जब मुगल इस देश पर शासन करते थे, तब केदारनाथ मंदिर बर्फ के पहाड़ों के तले दबा हुआ था. 400 साल ऐसा रहा, मगर मंदिर की एक ईंट भी नहीं खिसकी. अगर इससे भी पीछे लौटें तो विक्रमादित्य के राज में यहां आसपास धान की खेती होती थी. केदारनाथ... आगे पढ़े

भक्तों से रूठ 'अंतर्ध्यान' हो रहे हैं बाबा बर्फानी

Updated on 15 July, 2013, 17:15
अमरनाथ ऐसा लगने लगा है कि बाबा बर्फानी अपने भक्तों से रूठ गए हैं. अमरनाथ यात्रा पूरी होने से पहले ही बाबा बर्फानी अंतर्ध्यान हो गए हैं. पवित्र गुफा में जिस शिवलिंग का आकार कई फीट का हुआ करता था, अब वो पूरी तरह पिघल चुके हैं. हर-हर महादेव के जयघोष के... आगे पढ़े

रघुनाथ धाम में होते हैं 33 करोड़ देवी-देवता के दर्शन

Updated on 13 July, 2013, 14:01
नई दिल्‍ली जम्मू का रघुनाथ धाम, ऐसा पवित्र स्थान है जहां एक दो नहीं बल्कि 33 करोड़ देवी देवताओं के दर्शनों का सौभाग्य भक्तों को मिलता है. यहां रघुनाथ के मुख्‍य मंदिर के आस-पास कई मंदिर हैं, जिसमें अलग-अलग देवी देवताओं का पूजा होती है. भगवान राम के इस धाम में जितना... आगे पढ़े

नए रास्‍ते से पहुंचा जा सकेगा केदारनाथ धाम

Updated on 12 July, 2013, 16:04
नई दिल्‍ली पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक केदारनाथ को स्वर्ग का द्वार कहा जाता है माना जाता है, जिसने भी यहां आकर भगवान के दर्शनों का सौभाग्य प्राप्त कर लिया उसके सात जन्मों का पुण्य मिल जाता है, लेकिन 16 जून के सैलाब के बाद न सिर्फ आस्था का यह द्वार बंद... आगे पढ़े

दगड़ुसेठ गणपति मंदिर में होती है हर मनोकामना पूरी

Updated on 11 July, 2013, 14:52
पुणे पुणे के दगड़ुसेठ गणपति मंदिर की भव्य, विशाल और सुंदर यही पहचान है. इनके दरबार में कदम रखने के साथ ही विघ्नहर्ता भक्तों के हर दुख उनकी हर चिताओं को हर लेते हैं. सोने-चांदी के बीच जगमग करते बाप्पा के इस रूप के दर्शनों का सौभाग्य जिसे मिल जाए वो... आगे पढ़े

अधर्म का नाश करेंगे कल्कि

Updated on 10 July, 2013, 21:31
वर्तमान स्थिति भी इस ओर संकेत कर रही है कि भगवान जल्दी ही अवतार लेकर अधर्म का नाश करेंगे और धर्म को पुर्नस्थापित करेंगे। लेकिन इस बार भगवान का शत्रु असुर नहीं है बल्कि असुर प्रवृति वाला मनुष्य है जो छिपकर धर्म की जड़ काटने में लगा है। इसलिए भगवान... आगे पढ़े

इंसानियत का पैगाम देता है रमजान

Updated on 10 July, 2013, 20:20
रमजान का माह इंसानियत का पैगाम देता है। यह इबादत का महीना है। इस माह में की गई इबादतों का सबाब आम दिनों में की गई इबादतों के सबाब से कई गुना ज्यादा रहता है। इस्लाम के आखिरी पैगम्बर हजरत मोहम्मद हुजूर सल्ललाहो अलैह वसल्लम ने करीब 1433 वर्ष पूर्व विश्व... आगे पढ़े

भगवान बुद्ध के जीवन से जुड़ा है महाबोधि मंदिर

Updated on 8 July, 2013, 12:25
पटना रविवार को आतंकवादी हमले का शिकार बने बिहार के बोधगया स्थित महाबोधि मंदिर का भगवान बुद्ध के जीवन से सीधा संबंध रहा है। बोधगया में जिस स्थान पर मंदिर का निर्माण हुआ, वहीं 2,550 वर्ष पूर्व बुद्ध को बोध (ज्ञान) प्राप्त हुआ था। वर्ष 2002 में यूनेस्को ने इस स्थल... आगे पढ़े

तबाही के बाद नेपाल पहुंचे बाबा केदारनाथ, पूजा-अर्चना शुरू

Updated on 8 July, 2013, 12:11
काठमांडू भारी बारिश और बाढ़ के बाद तबाह केदारनाथ धाम में पूजा अभी संभव नहीं हो पायी है. और कहा जा रहा है कि केदारनाथ मंदिर को दुरुस्‍त होने में अभी तीन साल का समय लगेगा. इस बीच केदारनाथ के मुख्‍य पुजारी ने कुछ रिवाजों के साथ नेपाल के एक मंदिर... आगे पढ़े

क्या अपने भक्तों से रूठ गए हैं भगवान शंकर?

Updated on 5 July, 2013, 15:19
केदारनाथ केदारनाथ, अमरनाथ और अब कैलाश मानसरोवर यात्रा में लगातार आ रही बाधाओं को देखकर ऐसा लग रहा है कि भगवान शिव अपने भक्तों से रूठ गए हैं. केदारनाथ में कुदरत की तबाही ने कहर मचाया तो वहीं अमरनाथ यात्रा में समय से पहले पिघल रहा शिवलिंग भक्तों की चिंता का... आगे पढ़े

केदारनाथ में पूजा को लेकर शंकराचार्य और मंदिर के रावल में जुबानी जंग

Updated on 3 July, 2013, 14:16
केदारनाथ केदारनाथ मंदिर में पूजा को लेकर धर्म गुरुओं में ठन गई है. द्वारकापीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती और केदारनाथ मंदिर के रावल (मुख्य पुजारी) भीमाशंकर लिंग के बीच जुबानी जंग शुरू हो गई है. केदारनाथ में आई तबाही के बाद मुख्य पुजारी भीमाशंकर लिंग केदारनाथ के चल विग्रह को लेकर... आगे पढ़े

नाम लीजिए बजरंगबली का, संवर जाएंगे सब काज

Updated on 3 July, 2013, 13:42
जयपुर दर्शन बजरंगबली के ऐसे रूप के जिन्हें भक्त पुकारते हैं घाट वाले बालाजी के नाम से. बजरंगबली का ये मंदिर जितना प्राचीन है उतना ही चमत्कारी भी. कहते हैं यहां आकर मांगी गई हर मुराद पूरी होती है और किसी काम को शुरू करने से पहले घाट वाले बालाजी का... आगे पढ़े

37 हजार श्रद्धालुओं ने किए बाबा बर्फानी के दर्शन

Updated on 2 July, 2013, 14:21
जम्‍मू पिछले चार दिनों में 37 हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने दक्षिणी कश्मीर के हिमालयी क्षेत्र में अमरनाथ स्थित पवित्र गुफा में शिवलिंग के दर्शन किए, जबकि 2,168 तीर्थयात्रियों का पांचवां जत्था अपनी यात्रा पर निकल चुका है. इनमें से 35,627 तीर्थयात्रियों ने रविवार शाम तक पवित्र हिम शिवलिंग के दर्शन किए... आगे पढ़े

पूजा के बाद क्यों जरूरी है आरती ?

Updated on 1 July, 2013, 14:59
घर हो या मंदिर, भगवान की पूजा के बाद घड़ी, घंटा और शंख ध्वनि के साथ आरती की जाती है। बिना आरती के कोई भी पूजा अपूर्ण मानी जाती है। इसलिए पूजा शुरू करने से पहले लोग आरती की थाल सजाकर बैठते हैं। पूजा में आरती का इतना महत्व क्यों... आगे पढ़े

शिव की माला में गुंथे 108 मुण्ड किसके?

Updated on 1 July, 2013, 14:58
भगवान शिव और सती का अद्भुत प्रेम शास्त्रों में वर्णित है। इसका प्रमाण है सती के यज्ञ कुण्ड में कूदकर आत्मदाह करना और ‌सती के शव को उठाए क्रोधित शिव का तांडव करना। हालांकि यह भी शिव की लीला थी क्योंकि इस बहाने शिव 51 शक्ति पीठों की स्थापना करना... आगे पढ़े

साधु-संतो ने छोड़ी केदारनाथ में जल्दी पूजा करने की जिद

Updated on 29 June, 2013, 13:42
देहरादून केदारनाथ मंदिर में पूजा शुरू होने में अभी करीब एक हफ्ते का समय और लग सकता है. मंदिर में तुरंत पूजा कराने की मांग पर अड़े शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती भी शवों के दाह संस्कार होने तक वहां पूजा नहीं कराने की बात मान गए हैं. उत्तराखंड के मुख्‍यमंत्री विजय बहुगुणा... आगे पढ़े

अमरनाथ की ओर चल पड़े शिवभक्‍त

Updated on 28 June, 2013, 16:42
नई दिल्‍ली पवित्र अमरनाथ गुफा मंदिर में दर्शन के लिए जम्मू से कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच 3,000 से अधिक तीर्थयात्रियों का पहला जत्था गुरुवार को रवाना हुआ. एक अधिकारी ने बताया कि 563 महिलाओं और 37 बच्चों सहित 3,157 यात्रियों के इस जत्थे को राज्य के पर्यटन मंत्री जीए मीर ने... आगे पढ़े

शिवभूमि में मातम, भगवान पहुंचे ऊखीमठ

Updated on 25 June, 2013, 17:26
 नई दिल्‍ली कुदरत ने पूरे उत्तराखंड में जो कहर बरपाया है उससे उबरने में न जाने कितना वक्त लगेगा. कुदरत की सबसे ज्यादा मार केदारनाथ झेल रहा है, जहां मंदिर के अलवा दूर-दूर तक कुछ और नजर नहीं आता. कुदरत के कहर से केदारनाथ मंदिर तो बच गया, लेकिन अब न... आगे पढ़े

इनके दर्शन से भी मिलता है केदारनाथ के दर्शन का फल

Updated on 24 June, 2013, 15:39
केदारनाथ में आई तबाही ने श्रद्घालुओं की आस्था को झकझोर कर रख दिया है। जो यहां से जिंदा बचकर आ गए हैं वो फिर कभी केदारनाथ नही जाने की कसम खा रहे हैं। और जो लोग अब तक केदारनाथ के दर्शन की सोच रहे थे वह अब शिव जी को... आगे पढ़े

तबाही के बीच बचा रह गया बाबा केदारनाथ का मंदिर

Updated on 20 June, 2013, 15:06
नई दिल्‍ली कुदरत ने उत्तराखंड में भारी तबाही मचाई है. सबसे ज्यादा बर्बादी केदारनाथ में मची है. पूरे इलाके में मलबा और पानी बिखरा हुआ है. श्रद्धालुओं को ठहराने के लिए बने होटल और लॉज नेस्तनाबूद हो चुके हैं, लेकिन इतनी तबाही के बावजूद बाबा केदारनाथ का मंदिर बचा रह गया... आगे पढ़े

सोमनाथ मंदिर में कण-कण में बसते हैं महादेव

Updated on 18 June, 2013, 15:13
सोमनाथ हिन्दू धर्म में सोमनाथ का अपना एक अलग ही स्थान है. सोमनाथ मंदिर को 12 ज्योतिर्लिंगों में पहला स्थान प्राप्त है. इतना ही नहीं, कहते हैं महादेव अपने इस दर पर किसी भी भक्त खाली नहीं लौटने देते हैं. गुजरात के सौराष्ट्र से होकर प्रभास क्षेत्र में कदम रखते ही... आगे पढ़े

अमरनाथ यात्रा शुरू होने से पहले ही पिघलने लगे बाबा बर्फानी

Updated on 14 June, 2013, 12:35
नई दिल्ली यह खबर अमरनाथ यात्रियों को मायूस करने वाली है. गर्मी अधिक होने की वजह से बाबा बर्फानी का शिवलिंग तेजी से पिघल रहा है और इसका आकार दिनों दिन कम होता जा रहा है. बताया गया है कि अभी तक शिवलिंग 40 प्रतिशत तक पिघल चुका है, जबकि यात्रा... आगे पढ़े

जब शिव को भी करनी पड़ी गजानन की आराधना

Updated on 13 June, 2013, 14:13
नई दिल्‍ली गणपति बप्‍पा का एक रूप ऐसा भी है जो बप्‍पा के जन्‍म की कहानी कहता है. गजानन का यह रूप उनके पराक्रम की कहानी भी कहता है. पुणे की पहाड़ियों में रची-बसी है गणपति और मां पार्वती की कहानी. कहते हैं लेण्याद्री में मां पार्वती के मैल से गणपति... आगे पढ़े

हनुमान लला के दरबार में मिलती है सभी कष्‍टों से मुक्ति

Updated on 12 June, 2013, 16:05
 नई दिल्‍ली अयोध्‍या में भगवान राम का राज्‍य है और वहीं हनुमान वास करते हैं. अयोध्‍या की सरयू नदी में अपने पान धोने के लिए दूर-दूर से भक्‍त आते हैं, लेकिन यहां पहुंचकर भक्‍तों को भगवान राम से मिलने के लिए हनुमान के दर्शन कर उनसे आज्ञा लेनी पड़ती है. 76... आगे पढ़े

त्रिवेणी संगम पर खड़ा है आठवीं सदी का कुलेश्वर मंदिर

Updated on 11 June, 2013, 13:53
रायपुर, छत्तीसगढ़ के राजिम के त्रिवेणी संगम के बीच में वर्षों से टिका कुलेश्वर महादेव मंदिर स्थापत्य का बेजोड़ नमूना होने के साथ-साथ प्राचीन भवन निर्माण तकनीक का जीवंत उदाहरण है. तीन नदियों के संगम के कारण राजिम को छत्तीसगढ़ का प्रयाग कहा जाता है. राजिम में पैरी, सोंढूर और महानदी नदियों... आगे पढ़े