Sunday, 16 December 2018, 9:03 PM

संस्कृति

OH! तो लाइफ में Friendship इसलिए है जरूरी

Updated on 26 October, 2018, 6:45
एक बार की बात है। एक राजा ने राजकुमार को एक ऋषि के आश्रम में शिक्षा के लिए भेजा। ऋषि ने आश्रम में राजकुमार के लिए प्रबंध किया और उसकी शिक्षा प्रारम्भ हो गई। एक दिन ऋषि ने राजकुमार से पूछा कि तुम क्या बनना चाहते हो। इस पर ही... आगे पढ़े

कार्तिक मास में भूलकर भी न करें ये काम, नहीं तो...

Updated on 26 October, 2018, 6:30
हिंदू धर्म के ग्रथों में कार्तिक मास को बहुत खास महीना बताया जाता है। इस वर्ष का कार्तिक मास 24 अक्टूबर से शुरू होकर 21 नवंबर तक चलेगा क्योंकि इस माह को लेकर कई मान्यताएं प्रचलित है। इसलिए इस महीने में कई एेसे काम हैं जिन्हें करना हिंदू धर्म के... आगे पढ़े

कार्तिक मास में तुलसी क्यों है खास

Updated on 23 October, 2018, 7:30
हिंदू पंचांग के अनुसार हर महीने की अलग-अलग महिमा है। शास्त्रों में चातुर्मास में आने वाले कार्तिक मास को धर्म, अर्थ, काम व मोक्ष देने वाला माना गया है। तुला राशि पर सूर्यनारायण के आते ही कार्तिक मास प्रारंभ हो जाता है। इस मास में तुलसी पूजा का बहुत महत्व... आगे पढ़े

कौन था गांधारी के कुल का हत्यारा

Updated on 23 October, 2018, 6:45
धृतराष्ट्र महाराज विचित्रवीर्य की पहली पत्नी अंबिका के पुत्र और महाभारत के प्रमुख पात्रों में से एक थे। कहा जाता है कि इनका जन्म महर्षि वेद व्यास के वरदान स्वरूप हुआ था। हस्तिनापुर के इस नेत्रहीन महाराज के सौ पुत्र और एक पुत्री थी। उनकी पत्नी का नाम गांधारी था।... आगे पढ़े

देवी-देवताओं को भी नहीं पता यह ज्ञान, नचिकेता ने ऐसे जाना

Updated on 22 October, 2018, 7:00
कठोपनिषद में नचिकेता की कहानी आती है, जो एक पांच साल का बालक था। उसके पिता ने एक यज्ञ किया, जिसमें उन्होंने कहा- मैं अपना सब कुछ दान कर दूंगा । लेकिन बाद में वो बीमार गायें दान करने लगे। नचिकेता को यह अच्छा नहीं लगा कि बीमार व बूढी गाय... आगे पढ़े

क्यों कृष्ण को प्रिय है कार्तिक मास

Updated on 22 October, 2018, 6:40
विभिन्न शास्त्रों और पुराणों आदि में हर दिवस व मास को मनाए जाने वाले पर्व, उत्सव, व्रत आयोजनों आदि का उल्लेख उनके फलादि के साथ किया गया है। हिंदू धर्म के अनुसार साल के सभी बारह महीनों को किसी-न-किसी देवता के साथ संयुक्त कर उसके महत्व का उल्लेख उनमें किया... आगे पढ़े

विजयदशमी पर शस्त्र पूजा का महत्व 

Updated on 19 October, 2018, 8:00
हमारे देश में विजयादशमी के शुभ अवसर पर देवी पूजा के साथ-साथ शस्त्र पूजा की परंपरा भी कायम हैं। यह शस्त्र पूजा दशहरा के दिन ही क्यों की जाती है, इस संबंध में अनेक कथाएँ प्रचलित हैं। एक कथा के अनुसार राम ने रावण पर विजय प्राप्त करने हेतु नवरात्र... आगे पढ़े

इस तरह अपनी जीत के साथ मनाएं दशहरा

Updated on 19 October, 2018, 7:40
देवी जया और विजया का पर्व विजयादशमी यानी दशहरा, दरअसल नवरात्रि के नौ पावन दिनों के पश्चात खुद पर विजय पाकर स्वयं के पुनर्परिचय का महाकाल है। नवरात्रि का पर्व किसी पंडाल में स्थापित देवी की कृपा प्राप्त करने का नहीं, बल्कि अपने ही भीतर के सप्तचक्रों पर विराजित अपनी... आगे पढ़े

इसलिए मनाया जाता है दशहरा का त्योहार, यह है विजयदशमी की कथा

Updated on 19 October, 2018, 7:00
हमारे देश में दशहरा का त्योहार बड़े धूम-धाम से मनाया जाता है। इस पर्व को विजय दशमी भी कहा जाता है। शारदीय नवरात्रि के समय नौ दिन मां दुर्गा का पूजन करने के बाद दसवें दिन रावण का पुतला बनाकर उसका दहन किया जाता है। इसका कारण और कथा त्रेतायुग... आगे पढ़े

द्रोपदी के स्वयंवर में अर्जुन की जीत के पीछे था कृष्ण का हाथ, पढ़ें रोचक कहानी

Updated on 18 October, 2018, 12:45
द्रौपदी के स्वयंवर में जाते वक्त 'श्री कृष्ण' ने अर्जुन को समझाते हुए कहते हैं कि हे पार्थ तराजू पर पैर संभलकर रखना। संतुलन बराबर रखना, लक्ष्य मछली की आंख पर ही केंद्रित हो, इसका खास ख्याल रखना। अर्जुन ने कहा कि हे प्रभु सब कुछ अगर मुझे ही करना... आगे पढ़े

Durga puja havan: नवमी पूजन और हवन मंत्रः घर पर ऐसे करें नवरात्र में नवमी पूजन और हवन

Updated on 18 October, 2018, 7:00
नवरात्र की नवमी तिथि यानी आश्विन शुक्ल नवमी तिथि के दिन माता सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है। माता सिद्धिदात्री सभी सिद्धियों को प्रदान करने वाली माता हैं इनमें माता के सभी रूप सामहित होते हैं जो नवरात्र के नौ दिनों की पूजा का फल अपने भक्तों को प्रदान करती... आगे पढ़े

नवरात्रि स्पेशल: राम और रावण की कौन सी बातें हैं एक जैसी

Updated on 17 October, 2018, 7:00
नवरात्रों में देवी दुर्गा के नौ विभिन्न रूपों की पूजा-अर्चना की जाती है। हिंदू धर्म के अनुसार नवरात्र एक संस्कृत शब्द है, जिसका अर्थ होता है 'नौ रातें'। इन नौ रातों और दस दिनों के दौरान, आदिशक्ति के नौ रूपों की पूजा की जाती है। इस पर्व से जुड़ी कथा... आगे पढ़े

क्यों देवी दुर्गा को कहा जा जाता है महिषासुर मर्दिनी

Updated on 15 October, 2018, 7:40
नवरात्र शुरू होते ही कहीं जयकारों की गूंज तो, कहीं दुर्गा स्तुति का पाठ तो कहीं मां के भजन सुनने को मिलते हैं। इस पर्व को भारत के कोने-कोने में बहुत धूम-धाम से मनाया जाता है। यह पावन त्योहार आदिशक्ति मां दुर्गा को समर्पित है। नवरात्र के पूरे नौ दिन... आगे पढ़े

वैष्णो देवी श्रद्धालुओं के लिए अब निशुल्क पांच लाख का दुर्घटना बीमा

Updated on 14 October, 2018, 11:15
जम्मू। श्री माता वैष्णो देवी की यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं के लिए निशुल्क समूह दुर्घटना बीमा की राशि तीन लाख से बढ़ाकर पांच लाख रुपये कर दी गई है। इसका फैसला शनिवार को श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड की 63 वीं बैठक में लिया गया, जिसकी अध्यक्षता जम्मू-कश्मीर... आगे पढ़े

दशहरा पर्व के दोहे 

Updated on 14 October, 2018, 6:20
पर्व दशहरा कह रहा,सदा विनत् हो भाव ! अहंकार की लुप्तता,निशिदिन सत्य प्रभाव !! धर्म सदा होता विजयी,शुभ-मंगलमय गान ! सत्ता-मद होता बुरा,कर देता अवसान !! सदा सरल हो आचरण,प्रेमभाव हो संग ! तभी खिलेंगे ज़िंदगी,में सचमुच नव रंग !! कुंभकरण -रावण मरा,सकल वंश निर्मूल ! पर नारी को हर लिया,बहुत बड़ी यह भूल !! हर कोई दूषित... आगे पढ़े

भादवा माता के दरबार में मत्था टेकते ही शारीरिक कष्टों से मिल जाता है छुटकारा

Updated on 13 October, 2018, 12:00
नवरात्र के अवसर पर माता के दरबार में भक्तों का मेला लगता है। मां के आंगन में भक्त मुरादें लेकर आते हैं और आशीषों की झोली भरकर खुशी-खुशी लौट जाते हैं। मां अपनी दहलीज पर आए भक्तों को कभी निराश नहीं करती है। माता के मंदिर में आए भक्तों के... आगे पढ़े

Navratri vaishno devi yatra: नवरात्र में मां वैष्णो के दर्शन के लिए जा रहे हैं, जानें ये काम की बातें

Updated on 13 October, 2018, 9:30
माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए यूं तो पूरे साल भक्तों का आना-जाना लगा रहता है। लेकिन नवरात्र के दिनों में तीर्थयात्रियों की संख्या बढ़ जाती है। कहते हैं माता की गुफा में एक साथ तीन देवियों के साथ माता वैष्णो के दर्शन प्राप्त होते हैं। इसलिए माता के... आगे पढ़े

नवरात्रों में घर लें आए ये खास चीज, साल भर बनी रहेगी मां की कृपा

Updated on 12 October, 2018, 10:41
शारदीय नवरात्र चल रही है और इस दौरान लोग मां दुर्गा की कृपा पाने के लिए कई उपाय करते है। ग्रंथों में कुछ ऐसे उपाय बताए गए है जिससे मां दुर्गा को जल्द प्रसन्न किया जा सकता है। नवरात्रि में इनमें से कोई भी एक सामान नवरात्रि के शुभ मुहूर्त में... आगे पढ़े

चौबीस मातृकाओं में से एक है देवी गढ़कालिका

Updated on 11 October, 2018, 15:45
युगों-युगों से माता धरती पर अवतरित होकर दुष्टों का संहार और अपने भक्तों का उद्धार करती रही है। मां को भक्ति के अनेक रूपों से प्रसन्न किया जाता है। मां के रूप अलग-अलग होते हैं, लेकिन उनके वरदान हमेशा भक्तों के कल्याण के लिए होते हैं। माता धरती पर कई... आगे पढ़े

माता के इस दरबार में हवन का है विशेष महत्व, शत्रुबाधा का होता है नाश

Updated on 11 October, 2018, 15:30
 माता का धरती पर अवतरण अपने भक्तों के दुखों के हरण के लिए हुआ है। देवी कई रूपों और स्वरूपों में प्रगट होकर अपने भक्तों का उद्धार करती है। मां भक्तों के आराधना, भक्ति और सिद्धी के लिए पृथ्वीलोक में कई जगहों पर विराजमान है। जिनमें पहाड़ों से लेकर गुफा... आगे पढ़े

श्री हेमकुंड साहिब के कपाट शीतकाल के लिए बंद, अब अगले साल होंगे दर्शन

Updated on 11 October, 2018, 9:15
सिखों के प्रसिद्ध तीर्थस्थल श्री हेमकुंड साहिब के कपाट बुधवार 10 अक्टूबर को परम्परागत पूजा अर्चना के साथ शीतकाल के लिए बन्द कर दिए गए। इस मौके पर गुरुद्वारा प्रबन्धन के अलावा सैकड़ों तीर्थयात्रियों ने इस साल की अन्तिम अरदास में हिस्सा लिया। दोपहर डेढ़ बजे परम्परागत पूजा पाठ के... आगे पढ़े

नवरात्र का दूसरा दिन, ऐसे करें मां चंद्रघंटा की पूजा

Updated on 11 October, 2018, 8:50
(Navratri 2018 Chandraghanta Puja) 11 अक्टूबर गुरुवार को तीसरा नवरात्र मनाया जाएगा. देवगुरु ग्रह भी 11 अक्टूबर शाम को तुला से मित्र राशि वृष्च्छिक में जा रहे है. नवरात्रि के दूसरे दिन शुभ संयोग बन रहा है. तीसरे दिन मां दुर्गा के शेरावाली माता या चंद्रघंटा रूप की पूजा की जाती... आगे पढ़े

जानें क्यों करते हैं नवरात्र और शक्ति की उपासना क्या हैं इसके लाभ

Updated on 11 October, 2018, 6:20
नवरात्रि में हम सब भक्ति भाव से युक्त होकर मां जगदंबा की आराधना करते हैं। इस पूजा का उद्देश्य क्या है? जीवन का उद्देश्य उर्ध्वगमन करना, लक्ष्यों को सिद्ध करना, सम्मान से युक्त होना, बाधाओं पर विजय प्राप्त करना है। पर, सफलता एवं धन प्राप्ति मन को शुष्क न कर... आगे पढ़े

शुरू हुए नवरात्र, पहले दिन होगी दो देवियों की एक साथ पूजा

Updated on 10 October, 2018, 9:06
नवरात्रि (Navratri 2018) का खास पर्व शुरू हो गया है. भक्तजन नौ दिनों तक पूजा कर मां दुर्गा की कृपा प्राप्त करेंगे. शरद ऋतु में आने वाले आश्विन मास के नवरात्र को शारदीय नवरात्र भी कहा जाता है. साल में चार नवरात्र होते हैं, जिनमें से दो गुप्त नवरात्र होते हैं.... आगे पढ़े

नवरात्र का पहला दिन, मां शैलपुत्री की पूजाविधि और महत्व जानें

Updated on 10 October, 2018, 6:20
मां दुर्गा के नौ स्‍वरूपों में सर्वप्रथम हिमालय की कन्या मां शैलुपुत्री की पूजा होती है। आज आश्विन शुक्ल प्रतिपदा है और आज देवी के इसी स्वरूप की पूजा हो रही है। इस दिन कलश स्‍थापना के साथ मां दुर्गा का आह्वान किया जाता है। पुराणों में कलश को भगवान... आगे पढ़े

नवरात्र में इसलिए बोई जाती है जौ, मिलते हैं भविष्य के भी संकेत

Updated on 9 October, 2018, 20:38
हिंदू धर्म के हर त्योहार में कई रीति-रिवाज होते हैं लेकिन अक्सर हमें इनके पीछे का उद्देश्य पता ही नहीं होता है. नवरात्र में कलश के सामने गेहूं व जौ को मिट्टी के पात्र में बोया जाता है और इसका पूजन भी किया जाता है. हममें से अधिकतर लोगों को... आगे पढ़े

नवरात्र 2018 पूजा सामग्री: इनके बिना दुर्गा पूजा अधूरी, ले आएं पूजा के लिए जरूरी सामग्री

Updated on 9 October, 2018, 7:40
शारदीय नवरात्र का शुभारंभ बुधवार यानी 10 अक्‍टूबर से हो रहा है। मात्र एक ही दिन शेष है। उसके बाद अगले 9 दिन तक घर-घर में माता के जयकारे गूंजेंगे। नवरात्र के पहले दिन कलश स्‍थापना होगी। माता का दरबार सजेगा। भक्‍तजन 9 दिनों तक हवन भी करते है। 9 दिनों... आगे पढ़े

सर्वपितृ अमावस्या: अंतिम दिन ऐसे करें पितरों का श्राद्ध

Updated on 8 October, 2018, 12:52
नई दिल्ली, भाद्र पक्ष की पूर्णिमा से शुरू होकर अश्वनी माह की अमावस्या तक रहने वाले पितृ पक्ष अमावस्या तिथि को समाप्त होते हैं. यह श्राद्ध का 15वां दिन है. इसे सर्वपितृ अमावस्या कहते हैं. जब पितरों की देहावसान तिथि अज्ञात हो तो पितरों की शांति के लिए पितृ विसर्जन अमावस्या... आगे पढ़े

नवरात्र : शक्ति स्वरूपा देवी की आराधना का पर्व

Updated on 8 October, 2018, 11:45
धर्म ग्रंथों के अनुसार नवरात्र माता भगवती की आराधना, संकल्प, साधना और सिद्धि का दिव्य समय है। यह तन-मन को निरोग रखने का सुअवसर भी है।देवी भागवत के अनुसार देवी ही ब्रह्मा,विष्णु एवं महेश के रूप में सृष्टि का सृजन,पालन और संहार करती हैं। भगवान महादेव के कहने पर रक्तबीज शुंभ-निशुंभ,मधु-कैटभ... आगे पढ़े

मां ने दिया यह ताबिज, देखते-देखते बन गया राजा से निर्मोही

Updated on 8 October, 2018, 9:15
राजा ने मदाल्सा से शादी की। शादी से पहले मदाल्सा की शर्त थी कि हर संतान को पैदा होते ही गुरुकुल भेजेंगे। उनके तीन पुत्र हुए और तीनों को गुरुकुल भेज दिया। कुछ समय बाद मदाल्सा के चौथा पुत्र हुआ। इस पर राजा मदाल्सा से बोला: यदि हमने सभी संतानों... आगे पढ़े