महाकाल मंदिर के पुजारी की कोरोना से मौत, अभी भी दो पुजारी अस्पताल में लड़ रहे कोरोना से जंग, इंदौर से उज्जैन शव लाकर अंतिम संस्कार

पुजारी चंद्र मोहन का जीवित अवस्था का फोटो

जहां पूरा विश्व इस समय कोरोना से जंग लड़ रहा है वहीं उज्जैन में भी कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा रोजाना रिकॉर्ड तोड़ रहा है। शहर के हर हिस्से से कोरोना संक्रमित मिल रहे है। बाबा महाकाल मंदिर में पिछले कई वर्षों से सेवा करने वाले पुजारी चंद्र मोहन काका का शनिवार को कोरोना संक्रमण के चलते निधन हो गया।

कोरोना संक्रमण पर निजात पाने के लिए 11 दिवसीय महामृत्युंजय जाप में शामिल 70 से अधिक पंडे पुजारियों ने मृतक पुजारी चंद्र मोहन को श्रद्धांजलि दी। अभी भी दो अन्य पुजारी अस्पताल में कोरोना से जंग लड़ रहे है। इसके अलावा पुजारी का शव इंदौर से उज्जैन लाकर अंतिम संस्कार करने की बड़ी लापरवाही भी सामने आई।
 

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर को देखते हुए महाकाल मंदिर में श्रद्धालुओं की संख्या को पहले से ही कम कर दिया गया था।

श्रद्धालुओं लिए सिर्फ बैरेकेटिंग से ही दर्शन व्यवस्था रखी गई थी। इसके बावजूद भी महाकाल मंदिर के तीन पुजारी और चार कर्मचारी कोरोना संक्रमित हो गए। इसके बाद पिछले महीने संक्रमित हुए चंद्र मोहन पुजारी को इंदौर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लेकिन शनिवार को उनकी मौत की खबर उज्जैन पहुंची। सभी पंडे पुजारी और महाकाल मंदिर के कर्मचारी शोक में डूब गए।

मंदिर में 2 मिनिट का मौन रखकर श्रद्धांजलि अर्पित की गई।
 

बड़ी लापरवाही कोरोना से मौत के बाद उज्जैन ले आए शव

केंद्र सरकार की गाइडलाइन है कि कोरोना से मौत के बाद शव को परिवार को नहीं सौंपा जाएगा। वहीं शव का अंतिम संस्कार निगम कर्मी और स्वास्थ कर्मी करेंगे। इसके साथ ही जिस शहर में संक्रमित मरीज की मौत हुई है शव का अंतिम संस्कार भी उसी शहर में कोरोना प्रोटोकॉल के तहत किया जाएगा। महाकाल मंदिर में पुजारी चंद्र मोहन की मौत के मामले में कोरोना प्रोटोकॉल की धज्जिया उड़ी। सूत्रों की माने तो पुजारी की मौत इंदौर में होने के बाद भी शव को उज्जैन ले आया गया। कोरोना संक्रमितों के शव के लिए उज्जैन प्रशासन ने त्रिवेणी घाट सुरक्षित किया गया है लेकिन पुजारी की मौत के बाद शव को उज्जैन के चक्र तीर्थ घाट पर अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस पुरे मामले में जब उज्जैन कलेक्टर से जानकरी लेनी चाही तो उन्होंने ऐसी किसी घटना की जानकरी होने से मना किया और कहा कि दिखवाते है।