पंजाब | में कांग्रेस को एक और झटका लगा है। पहले नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस कमेटी से इस्तीफा दे दिया। अब खब आ रही है कि पंजाब कैबिनेट में दो दिन पहले शामिल हुईं रजिया सुल्ताना ने भी इस्तीफा दिया दे दिया है। कांग्रेस के लिए आज का दिन पंजाब के लिहाज से काफी खराब रहा है।

रजिया सुल्ताना ने दो दिन पहले पंजाब के कैबिनेट मंत्री के रूप में पदभार संभाला था। उन्होंने "नवजोत सिंह सिद्धू के साथ एकजुटता में" इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कहा, ''सिद्धू साहब सिद्धांतों के आदमी हैं। वह पंजाब और पंजाबियत के लिए लड़ रहे हैं।''

आपको बता दें कि मंगलवार को पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देकर नवजोत सिंह सिद्धू ने सभी को हैरान कर दिया। सिद्धू इस पद पर पांच हफ्ते से भी कम समय के लिए रहे। कैप्टन अमरिंदर सिंह के सीएम पद पर रहते सिंद्धू और उनके बीच लंबे समय तक तकरार की स्थिति बनी रही। पहले अमरिंदर सिंह ने सीएम के पद से इस्तीफा दिया और अब सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया।

क्रिकेटर से राजनेता बने सिद्धू ने इस पद से इस्तीफा क्यों दिया? इसे लेकर अलग-अलग कयास लगाए जा रहे हैं। कांग्रेस नेतृत्व ने पंजाब के पहले दलित मुख्यमंत्री के तौर पर सिद्धू की पसंद चरणजीत सिंह चन्नी का समर्थन किया। लेकिन सुखजिंदर सिंह रंधावा को डिप्टी सीएम बनाने से सिद्धू नाराज बताए जाते हैं।

सिद्धू खुद भी एक जाट सिख हैं। ऐसा माना जाता है कि सुखजिंदर सिंह रंधावा को आगे बढ़ाए जाने के बाद सिद्धू को खतरा नजर आने लगा था। दरअसल उनका निशाना 2022 विधानसभा चुनाव पर था जिसमें वो खुद को मुख्यमंत्री पद के दावेदार के तौर पर देख रहे थे। लेकिन रंधावा को सिद्धू अपनी महत्वकांक्षाओं के आगे रोड़ा मानते हैं।