कोलकाता | पश्चिम बंगाल में चार चरण का मतदान खत्म हो चुका है. 17 अप्रैल को पांचवें चरण की वोटिंग है. इस बीच मुख्यमंत्री और टीएमसी अध्यक्ष ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के इलेक्शन कैंपेनिंग पर चुनाव आयोग (EC) ने 24 घंटे के लिए रोक लगा दी है. 7 अप्रैल को चुनाव आयोग ने अल्पसंख्यक वोटों के बंटवारे ना होने वाले बयान को लेकर मुख्यमंत्री को नोटिस भेजा था. चुनाव आयोग के इस फैसले के खिलाफ ममता बनर्जी आज पूरा दिन धरना प्रदर्शन करेंगी.

दूसरी ओर, बंगाल में आज गृहमंत्री अमित शाह की तीन रैलियां और एक रोड शो हैं. शाह की पहली रैली दार्जिलिंग में सुबह 11:30 बजे, दूसरी रैली नागराकाटा में 12:45 बजे है. फिर अमित शाह 2.20 बजे से इस्लामपुर में रोड शो करेंगे. इसके बाद बिधाननगर में 5 बजे उनकी आज की आखिरी रैली होनी है.
तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुए पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष यशवंत सिन्हा ने चुनाव आयोग पर निशाना साधते हुए कहा है कि लोकतंत्र का हर संस्था से समझौता किया गया है. उन्होंने चुनाव आयोग को लेकर कहा कि मुझे आयोग की निष्पक्षता पर हमेशा से संदेह था. उन्होंने आयोग पर आरोप लगाते हुए कहा कि चुनाव आयोह मोदी और शाह के इशारे पर काम कर रही है.इससे पहले, कूचबिहार जाने से रोके जाने के फैसले के खिलाफ भी ममता बनर्जी, चुनाव आयोग और केंद्र सरकार के खिलाफ नाराजगी जता चुकी हैं. कूचबिहार जाने से रोके जाने पर सीएम ममता ने ट्वीट करते हुए कहा कि चुनाव आयोग का नाम बदलकर MCC यानी की मोदी कोड ऑफ कंडक्ट कर देना चाहिए. 
ममता बनर्जी ने कहा है कि वह आयोग के ‘‘असंवैधानिक फैसले'' के खिलाफ मंगलवार को कोलकाता में धरना देंगी. ममता ने ट्वीट किया, ‘‘निर्वाचन आयोग के अलोकतांत्रिक और असंवैधानिक फैसले के विरोध में मैं कल (मंगलवार) दिन में 12 बजे से गांधी मूर्ति, कोलकाता में धरना पर बैठूंगी.''