पड़ोसी राज्यों की तुलना में एमपी में पेट्रोल सबसे महंगा:पेट्रोल की औसत कीमत 98.96 रुपए पर पहुंची, बाकी राज्यों में 90 रुपए भी नहीं


देश में सबसे महंगा पेट्रोल-डीजल मध्य प्रदेश और राजस्थान में बिक रहा है। वहीं अगर राज्यों के एवरेज (औसत) प्राइस की बात करें तो इसमें मध्य प्रदेश (MP) सबसे आगे है। MP में 26 फरवरी को पट्रोल का एवरेज प्राइज 98.96 रुपए था जो देश में सबसे अधिक है। कुछ पड़ोसी राज्यों में पेट्रोल की औसत कीमत 90 रुपए से भी कम हैं। पेट्रोल पंप एसोसिएशन के अध्यक्ष अजय सिंह के अनुसार उत्तर प्रदेश में पेट्रोल 89.13 रुपए प्रति लीटर की औसत से बेचा गया था। छत्तीसगढ़ में कीमत 89.39 रुपए, गुजरात में 88.88 रुपए था। वहीं अंडमान में पेट्रोल 76.54 रुपए में बेचा गया था।

मध्य प्रदेश में कई जगह पेट्रोल 100 रु. के पार
मध्य प्रदेश में कई शहरों में पेट्रोल 100 रु. प्रति लीटर के पार निकल गया है। अनूपपुर में पेट्रोल 101.59 रुपए पर पहुंच गया है वहीं रीवा में 101.25 रुपए प्रति लीटर बिक रहा है। राजधानी भोपाल में ये 99.21 रुपए है। मध्यप्रदेश के प्रमुख शहरों में पेट्रोल की कीमत....

शहर    कीमत (रु./लीटर में)
इंदौर    99.23
ग्वालियर    99.06
रीवा    101.25
उज्जैन    99.55
विदिशा    99.69
जबलपुर    99.20
सागर    99.55
वैट वसूलने के मामले में भी MP आगे
मध्यप्रदेश में 33% वैट वसूला जा रहा है। ये मणिपुर, तेलंगाना और राजस्थान के बाद सबसे ज्यादा है। साल 2019-20 में राज्य सरकार ने पेट्रोल पर वैट के जरिए 10720 करोड़ रुपए कमाए थे। वहीं 2020-21 में दिसंबर तक 8038 करोड़ की कमाई हो चुकी है। पेट्रोल पर वैट टैक्स के मामले में टॉप 5 राज्य

राज्य    वैट (% में)
मणिपुर    36.50
राजस्थान    36.00
तेलंगाना    35.20
मध्यप्रदेश    33.00
ओडिशा    32.00
 

पेट्रोल पर प्रति लीटर 23 रुपए वैट वसूल रही MP की सरकार

पेट्रोल-डीजल का बेस प्राइज पर जो अभी 32 रुपए के करीब है, इस पर केंद्र सरकार 33 रुपए एक्साइज ड्यूटी वसूल रही है। इसके बाद राज्य सरकारें इस पर अपने हिसाब से वैट और सेस वसूलती हैं, जिसके बाद इनका दाम बेस प्राइज से 3 गुना तक बढ़ गया है। मध्य प्रदेश में 1 लीटर पेट्रोर पर करीब 23 रुपए वैट वसूला जा रहा है।

वैट से कमाई के मामले में ये राज्य सबसे आगे

राज्य    2019-20 में कमाई (करोड़ रु. में)    2019-20 में अप्रैल से दिसंबर तक की कमाई (करोड़ रु. में)
महाराष्ट्र    26,791    16,962
उत्तर प्रदेश    20,112    14,643
तमिलनाडु    18,175    11,826
राजस्थान    13,319    11,071
कर्नाटक    15,381    10,473
गुजरात    15337    10,311
मध्य प्रदेश    10,720    8,038
 

MP के सीमावर्ती क्षेत्रों में पेट्रोल पंप बंद होने की कगार पर

MP के सीमावर्ती क्षेत्रों में बड़ी संख्या में पेट्रोल पंप बंद होने की कगार पर हैं, क्योंकि ट्रक और यात्री गाड़ियां मध्य प्रदेश के बजाय उत्तर प्रदेश में पेट्रोल भरवाते हैं। इस कारण इन पेट्रोल पंप मालिकों को नुकसान उठाना पड़ रहा है।

3 मार्च तक 26 बार बढ़े दाम

फरवरी में अब तक 27 दिनों में पेट्रोल-डीजल के रेट में 16 बार बढ़ोतरी हुई है। इस दौरान दिल्ली में पेट्रोल 4.62 रुपए और डीजल 4.74 रुपए महंगा हुआ है। इससे पहले जनवरी में रेट 10 बार बढ़े। इस दौरान पेट्रोल की कीमत में 2.59 रुपए और डीजल में 2.61 रुपए की बढ़ोतरी हुई थी। वहीं अगर 2021 की बात करें तो इस साल अब तक पेट्रोल 7.36 रुपए और डीजल 7.60 रुपए प्रति लीटर महंगा हुआ है।

अब तक पांच राज्यों ने टैक्स में कटौती की

अब तक पांच राज्य सरकारें पेट्रोल-डीजल पर लगने वाले टैक्स में कटौती कर चुकी हैं। इन राज्यों में राजस्थान, पश्चिम बंगाल, असम, मेघालय और नागालैंड शामिल हैं। पेट्रोलियम और नेचुरल गैस मंत्रालय ने कुछ दिनों पहले ही यह साफ कर दिया था कि सरकार पेट्रोल और डीजल पर लगने वाले टैक्स में कोई कटौती नहीं करेगी। ऐसे में राज्य अपने स्तर पर लोगों का राहत दे रहे हैं।

अलग-अलग शहर में कीमत में अंतर क्यों होता है?

जब पेट्रोल-डीजल किसी पेट्रोल पंप पर पहुंचता है तो वो पेट्रोल पंप किसी ऑयल डिपो से कितना दूर है, उसके हिसाब से उस पर किराया लगता है। इसके कारण शहर बदलने के साथ ये किराया बढ़ता-घटता है। जिससे अलग-अलग शहर में भी कीमत में अंतर आ जाता है।