नई दिल्ली ।  देशभर में कोरोना वायरस के नए मामलों ने सभी पुराने रिकॉर्ड्स को तोड़ दिया है। कई राज्यों में हालात काफी खराब हो चुके हैं। इस सिलसिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आठ अप्रैल को विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बातचीत करेंगे। इस बैठक में प्रधानमंत्री मोदी मुख्यमंत्रियों के साथ कोरोना की स्थिति पर चर्चा करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी की यह बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए से होगी। कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते पिछले पांच दिनों में प्रधानमंत्री की होने वाली यह दूसरी बैठक होगी। यह बैठक कोरोना के पिछले 24 घंटों में सामने आए एक लाख से ज्यादा मामलों के बाद होने की वजह से काफी अहम हो गई है। पिछले एक दिन में देश में 103,558 नए कोरोना के केस मिले हैं, जिसके बाद सरकार की चिंता और अधिक बढ़ गई। अभी तक भारत में संक्रमण की बीमारी के शुरू होने के बाद से यह आंकड़ा सबसे अधिक है। एक लाख से ज्यादा कोविड-19 के मामले सामने आने के बाद कुल संक्रमितों की संख्या भी बढ़कर 12,589,067 हो गई है। बता दें कि एक दिन पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक की थी और महामारी के सतत प्रबंधन और लोगों में जागरूकता बढ़ाने के साथ ही जन भागीदारी और जन आंदोलन जारी रखने की जरूरत पर बल दिया था। संकमण को फैलने से रोकने के लिए उन्होंने टेस्टिंग (जांच), ट्रेसिंग (संपर्कों का पता लगाना), ट्रीटमेंट (उपचार करना), कोविड बचाव संबंधी सावधानियों और टीकाकरण की पांच स्तरीय रणनीति को बेहद गंभीरता तथा प्रतिबद्धता के साथ अपनाने पर जोर दिया था।