आज कल हर कोई अपने जीवन में इतना व्यस्त है, कि अपने आस-पास की चीज़ों पर भी ध्यान नहीं दे पाता। वास्तु शास्त्र में कहा गया है कि घर आदि में हर चीज़ वास्तु के अनुसार ही होनी चाहिए। अगर बात करें अलमारी की तो ये कपड़े, किताबें तथा अन्य कई चीज़ें रखने के काम आती है। घर के हर कमरे में लगभग परिवार के प्रत्येक सदस्य के पास छोटी-बड़ी अलमारी होती ही है। इसमें वे अपना हर तरह का सामान रखते हैं। मगर सामान रखने के साथ इसे साफ रखना भी बहुत जरूरी है। जी हां, इतना ही नहीं इसके अलावा भी अलमारी से जुड़ी कई ऐसी बातें हैं जिनके बारे में जानना अधिक आवश्यक होता है। तो आइए जानते हैं क्या है वो बातें-

वास्तु शास्त्र के अनुसार इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि अलमारी का दरवाज़ा हमेशा बंद होना चाहिए। कुछ घरों में छोटा-मोटा सामान रखने वाले अलमारी होती हैं, जिन्हें दरवाज़ा नहीं होता। ऐसी अलमारियों घर मेंं रहने वाले लोगों के जीवन में वास्तु दोष पैदा करते हैं। ऐसे में अलमारी को कांच का दरवाज़ा लगवा सकते हैं।

इसके अलावा अलमारी टूटी-फूटी या खराब नहीं होनी चाहिए। वास्तु विशेषज्ञ के अनुसार ऐसा करने से 2 तरह के नुकसान होते हैं। माना जाता है कि ऐसी अलमारी के होने से हर तरह के कार्यों में रुकावट आती है। साथ ही साथ इससे धन संबंधी परेशानियां भी आती हैं, बल्कि कहा जाता हैै व्यक्ति के घर का धन पानी की तरह बहने लगता है।

घर में अलमारी रखते समय इस बात का ध्यान रखें कि इसे कभी भी सीधे भूमि पर न रखें। इसके नीचे कपड़ा, पुष्ठा या लकड़ी का तख्ता रख सकते हैं। माना जाता है इससे वास्तु दोष निर्मित नहीं होता।

अलमारी को हमेशा दक्षिण दिशा की दीवार से सटाकर रखना चाहिए। इसके अलावा इसे पश्चिम दिशा से भी सटाकर रखना चाहिए।

इन सभी के अतिरिक्त वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि घर में टूटा-फूटा फर्नीचर कभी न रखें। अगर ऐसा हो तो इसे ठीक कर लें। जेब में रखे जाने वाला पर्स या घर की तिज़ोरी भी टूटी नहीं होनी चाहिए।

साथ ही साथ ध्यान रखें कि पर्स या तिजोरी में धार्मिक और पवित्र वस्तुएं रखनी चाहिए, जिससे सकारात्मक ऊर्जा बढ़े और मन प्रसन्न रहे।